आजादी का जश्न पाकिस्तान में14अगस्तऔर भारत में 15अगस्त को क्यों मनाया जाता है

काफी कुर्बानियों के बाद हमारा देश 15अगस्त 1947को आजाद हुआ। 1947 का भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम पारित  होने के बाद भारत और पाकिस्तान दो अलग -अलग राष्ट्र में विभाजित हो गये। जबकि अधिनियम के अंतर्गत दोनों देशों की स्वतंत्रता की तारीख 15 अगस्त ही लिखी हुई है,  लेकिन दोनों देश अलग -अलग अपनी स्वतंत्रता की आजादी का जश्न मनाते हैं, उस समय वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने दोनों देशों को 14 या 15 अगस्त को आजादी मनाने की स्वतंत्रता दी थी,  इसके बाद दोनों देशों ने अलग-अलग स्वतंत्रता दिवस की तारीख  चुनी।  जानिए इसकी एक हकीकत…

1…. पाकिस्तान को 14 अगस्त तारीख चुनने में एक बहुत बड़ा राज है। इस्लाम के मुताबिक  रमजान महीने कि 27वीं  तारीख को पाक माना जाता है। 14 अगस्त सन 1947 पाक कैलेंडर के मुताबिक 27वां दिन भी है और इसी दिन को शब -ए –  कद्र की पाक  रात भी थी, इसीलिए पाकिस्तान अपनी आजादी का जश्न14 अगस्त सन 1947 को मनाता है।

2.. भारत की स्वतंत्रता कानून पर 15 अगस्त सन 1947 को रात 12:00 बजे हस्ताक्षर किया गया यह समय पाकिस्तान के समय के मुताबिक 30 मिनट पीछे था इसलिए भी अपनी आजादी 14 अगस्त सन 1947 को मनाते हैं और भारत के मुताबिक समय 12:00 से ज्यादा हो हो गया था इसलिए हमारे भारत देश में स्वतंत्रता दिवस की आजादी का जश्न 15 अगस्त सन 1947 को मनाया जाता है।

 

 

Related Articles