भारत 58 स्थान पर पावर फुल पासपोर्ट के मामले मे

भारत 58वे स्थान पर पासपोर्ट के मामले मे


क्या आप जानते हैं कि पॉवरफुल पासपोर्ट जैसी कोई चीज भी होती है. पॉवरफुल पार्सपोर्ट का ये मतलब नहीं है कि जो देश ताकतवर हैं उनके पासपोर्सट भी ताकतवर होते है. पॉवरफुल पासपोर्ट के कई फायदे होते हैं. वैश्विक रैंकिंग की रिपोर्ट के अनुसार न्यीजीलैंड का पासपोर्ट दुनिया में सबसे शक्तिशाली है. पासपोर्ट इंडेक्स लिस्ट में रियल टाइम, वीजा प्रतिबंधों, लेजिस्लेटिव फैक्टर में बदलाव और प्रवेश आवश्यक्ताओं की शक्ति को सूचीबद्ध करता है.

इससे पहले न्यूजीलैंड ने जापान के साथ पहला स्थान शेयर किया था. हालांकि न्यूजीलैंड ने इस बार अकेले ही पहला स्थान हासिल किया है. इसका मतलब यह है कि न्यूजीलैंड के नागरिक 120 से अधिक देशों में बिना वीजा के घूम सकते हैं.

इस लिस्ट में दूसरे स्थान पर जर्मनी, स्विजरलैंड, ऑस्ट्रिया, आयरलैंड, लक्जमबर्ग, दक्षिण कोरिया और ऑस्ट्रेलिया के साथ जापान का नाम शामिल हैं. तीसरा स्थान स्वीडन, फ्रांस, स्पेन, बेल्जियम, इटली और फिनलैंड द्वारा शेयर किया गया है.

इस बीच भारत ने 58 वां स्थान हासिल किया है.

रिपोर्ट के अनुसार न्यूजीलैंड कोरोना महामारी में मजबूत स्थिति में बना रहा और यहां कि सरकार ने अन्य देशों के लिए नया बैंचमार्क निर्धारित किया है. हालांकि इसके पासपोर्ट को कई देशों द्वारा वीजा फ्री एक्सेस दिया गया है. रैंकिंग बताते है कि कोरोना काल में अन्य राष्टीयताओं की तुलना में कीवी पासपोर्ट धारक यात्रा प्रतिबंधों से कम से कम प्रभावित हुए हैं.

इसके आलावा यूरोपियन देश शुरुआती टॉप 10 की लिस्ट में शामिल है. इस रैंकिग के बाद न्यूजीलैंड सरकार को पर्यटकों की आने की उम्मीद है.

 

Show More

Related Articles