मनीषा के हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए, इसको लेकर फौजी सोनकर ने किया धरना प्रदर्शन

आखिर कब तक भारत की बेटियां बलि का बकरा बनती रहेंगी

 

सुलतानपुर।  मोस्ट कल्याण संस्थान के तत्वाधान में फौजी सन्तोष सोनकर के नेतृत्व में मनीषा वाल्मीकि के हत्यारों को फाँसी की सजा व  पीड़ित परिवार  को  पूर्ण न्याय मिले.  6 सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी सुलतानपुर के माध्यम से राष्ट्रपति को प्रेषित किया गया।
ज्ञापन में कहा गया है   कि जनपद हाथरस की बहन मनीषा वाल्मीकि के साथ सामूहिक बलात्कार कर रीढ़ की हड्डी तोड़ दी  और जीभ काट ली जाती है जिसके कारण मनीषा की दिनाँक 29-09-2020 को मृत्य    हो  गयी और योगी सरकार का प्रशासन बलात्कारियों और हत्यारों को गिरफ्तार करने के बजाय बलात्कार व हत्या का साक्ष्य मिटाने के घिनौने कुकृत्य में जुटा है,।   बहन मनीषा का बलात्कार कर हत्या में संलिप्त अपराधियों को फाँसी की सजा सुनिश्चित कराने के लिए योगी सरकार को बर्खास्त किया जाय या उत्तर प्रदेश से बाहर मुकदमे का विचारण कराया जाय क्योंकि पुलिस प्रशासन के पक्षपातपूर्ण रवैए को देखते हुए योगी राज में न्याय की उम्मीद नही की जा सकती एवं मनीषा की लाश को रात में जबरदस्ती जलाकर साक्ष्य मिटाने के आपराधिक षड्यंत्र में संलिप्त पुलिस कर्मियों को तत्काल पदच्युत कर उन पर भी हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाय तथा बहन मनीषा के बलात्कार, हत्या और साक्ष्य मिटाने के आपराधिक षड्यंत्र में संलिप्त सभी अपराधियों को सजा दिलाने के लिए यूपी से बाहर फास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन कर त्वरित न्याय दिलाया जाना सुनिश्चित किया जाय एवं पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता स्वरूप सरकार द्वारा एक करोड़ रुपया दिया जाय तथा पीड़ित परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिया जाये एवं पीड़ित परिवार की सुरक्षा हेतु वाई प्लस सुरक्षा उपलब्ध कराई जाय। इस  में  सम्लित  रहे
, जिला संयोजक ज़ीशान अहमद, जनरल सिकरेट्री राम उजागिर यादव “नेवी वाले” स्टूडेंट विंग के संयोजक नरेंद्र निषाद, प्रदीप सोनकर, कुलदीप सोनकर, अजय कुमार, अविनाश सोनकर, राम केशव मौर्य, नीरज, ओमप्रकाश गौतम, अलिफ फहमी, सुदीप निषाद, रामकुमार यादव, इरफान सिद्दीकी, शिवलाल निषाद, शरद कुमार बौद्ध, कुँवर अर्जुन, अमृतलाल निषाद, जयप्रकाश निषाद, सुनील निषाद जलालपुर, राहुल निषाद, सुनील कनौजिया,

Related Articles