यूपी के सरकारी दफ्तरों में 50 फीसदी कर्मचारी बुलाए जाएंगे

 

“” साहबो को रोज आना होगा दफ्तर , मातहत आधे आये दफ्तर ,आधे आफिस फोम होम

( मुख्य सचिव आरके तिवारी (Chief Secretary RK Tiwari) के आदेश में कहा गया है कि समूह ‘क’ और ‘ख’ के सभी अधिकारियों को रोज़ाना दफ़्तर आना होगा. यह व्यवस्था कोरोना की रोकथाम और आवश्यक सेवाओं से जुड़े अधिकारियों पर लागू नहीं होगी.)

लखनऊ. कोरोना संक्रमण (COVID-19) के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने सभी सरकारी दफ्तरों, निकाय और निगम कार्यालयों में समूह ‘ग’ और ‘घ’ के 50 फ़ीसदी कर्मचारी ही दफ्तर बुलाए जाने का निर्णय लिया है.

मुख्य सचिव आरके तिवारी (Chief Secretary RK Tiwari) ने सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव और विभागध्यक्षों को इस बाबत पत्र लिखकर निर्देश दिया है. आदेश में कहा गया है कि समूह क और ख के सभी अधिकारियों को रोज़ाना दफ़्तर आना होगा.

यह व्यवस्था कोरोना की रोकथाम और आवश्यक सेवाओं से जुड़े अधिकारियों पर लागू नहीं होगी.

मुख्या सचिव आरके तिवारी ने अपने निर्देश में कहा है कि सभी विभागों के अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव और विभागध्यक्षों को अपने कार्यालय में सोशल डिस्टेंसिंग का खुद आंकलन करने को कहा गया है.

मुख्य सचिव ने कहा है कि समूह ग और घ के स्वीकृत पदों के सापेक्ष 50 फीसदी कर्मचारियों को दफ्तर बुलाया जाए. शेष को रोस्टर के मुताबिक घर से ही काम करने के लिए संबंधित विभागीय मंत्री से स्वीकृति ली जाए.

 

Related Articles