डॉ. योगिता गौतम हत्याकांड: भाई ने दी थी बहन के किडनैप होने की सूचना, आरोपी डॉक्टर अरेस्ट

आगरा. आगरा (Agra) के एसएन मेडिकल कॉलेज (SN Medical College) के स्त्री रोग विभाग की पीजी छात्रा डॉ. योगिता गौतम (Dr Yogita Gautam) की निर्मम हत्या (Murder) मामले में पुलिस (Police) ने साथी डॉ. विवेक तिवारी (Dr Vivek Tiwari) को गिरफ्तार किया है. बता दें बुधवार सुबह फतेहाबाद हाईवे पर बमरौली कटारा क्षेत्र में डॉ. योगिता गौतम का शव मिला था. उनके सिर में प्रहार कर हत्या की गई थी. इससे पहले योगिता के भाई डॉ. मोहिंदर कुमार गौतम ने उरई में तैनात मेडिकल ऑफिसर डॉ. विवेक तिवारी के खिलाफ आगरा के एमएम गेट थाने में बहन के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था.

एडीजी अजय आनंद ने बताया कि बुधवार सुबह बमरौली कटारा (डौकी) के पास एक युवती का शव मिला था. युवती की शिनाख्त डॉ. योगिता गौतम के तौर पर हुई. इस मामले में पुलिस टीम ने उरई से आरोपी डॉ. विवेक तिवारी को पकड़ा है और उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस के पास इस बात के भी साक्ष्य हैं कि विवेक तिवारी मंगलवार शाम तक आगरा में ही था.

MBBS में एक साल सीनियर था डॉ विवेक तिवारी

नजफगढ़ दिल्ली निवासी डॉ. मोहिंदर कुमार गौतम ने बहन के किडनैप होने की सूचना पुलिस को दी थी. उन्होंने बताया कि उनकी बहन ने मुरादाबाद के तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज में वर्ष 2009 में प्रवेश लिया था. इसी दौरान उसकी पहचान डॉ. विवेक तिवारी से हुई. डॉ विवेक तिवारी, योगिता से एक साल सीनियर थे. उन्होंने बताया कि मंगलवार को डॉ. विवेक तिवारी योगिता को जबरन गाड़ी में खिंचकर ले गया

Related Articles